Today,

छावनी में तब्दील हुई राम नगरी-92 जैसे हालात से निपटने का पूरा इंतेज़ाम

24 Nov 2018

हर ख़बर पर है सूचना न्यूज़ की पैनी नज़र

एक तरफ जहां हिन्दू संगठनों द्वारा कल अयोध्या में आयोजित होने वाले धर्म संसद की तैयारियां पूरी हो चुकी है तो वहीं दूसरी तरफ प्रशासन ने भी राम नगरी को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया है।

शिव सेना,विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल जैसे हिन्दू संगठनों द्वारा 25 नवंबर अर्थात कल 12 बजे से अयोध्या के परिक्रमा मार्ग पर स्थित बड़े भक्तमाल बगिया में धर्म सभा का आयोजन हुआ है जिसकी तैयारियाँ पूरी करने का दावा किया जा रहा है तथा धर्म प्रेमियों के पहुंचने का सिलसिला आज से ही शुतु हो चुका है। उक्त बड़े आंदोलन को लेकर प्रशासन भी पूरी तरफ सजग नज़र आने लगा है। प्रशासन का दावा है कि 06 दिसंबर 1992 की तरह हालात ना पैदा होने पाए इसके लिए राम नगरी अयोध्या को 8 जोन व 16 सेक्टरों में बांट कर भारी संख्या में मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारी तैनात किए गए हैं। श्रीरामलला परिसर को रेड जोन में रखते हुए उसकी जिम्मेदारी डीआईजी को सौंपी गई है तथा एडीजी को ब्लू जोन को ज़िम्मेदारी दी गई है जहां शिवसेना का कार्यक्रम प्रायोजित है। पूरे क्षेत्र में 15 अपर पुलिस अधीक्षक, 19 पुलिस क्षेत्राधिकारी सहित 48 कंपनियां पीएसी की लगाई गई है। पूरे क्षेत्र को छावनी के रूप में तब्दील कर दिया गया है।



अन्य खबर