Today,

लौह पुरुष की जयंती पर विशेष रिपोर्ट-सपा भाजपा आयोजित कर रही हैं समारोह

30 Oct 2018

है ख़बर पर है सूचना न्यूज़ की पैनी नज़र

पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को नडियाद, गुजरात में एक लेउवा (लेवा) कृषक परिवार में हुआ था। वे झवेरभाई पटेल एवं लाडबा देवी की चौथी संतान थे। सोमा भाई, नरसी भाई और विट्टल भाई उनके अग्रज थे। उनकी शिक्षा मुख्यतः स्वाध्याय से ही हुई। लन्दन जाकर उन्होंने बैरिस्टर की पढाई की और वापस आकर अहमदाबाद में वकालत करने लगे। महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरित होकर उन्होने भारत के स्वतन्त्रता आन्दोलन में भाग लिया। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व भारत के प्रथम गृह मंत्री और उप-प्रधानमंत्री बल्लभ भाई पटेल को बारडोली सत्याग्रह सत्याग्रह की सफलता पर वहाँ की महिलाओं ने सरदार की उपाधि प्रदान किया था। आजादी के बाद विभिन्न रियासतों में बिखरे भारत के भू-राजनीतिक एकीकरण में केंद्रीय भूमिका निभाने के लिए पटेल को भारत का बिस्मार्क और लौह पुरूष भी कहा जाता है।

अम्बेडकरनगर में सत्तारूढ़ भाजपा तथा समाजवादी पार्टी द्वारा 143 वीं जयंती काफी धूम धाम से मनाई जाएगी। भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष कपिलदेव वर्मा के नेतृत्व में कल जनपद मुख्यालय पर स्थित कलेक्ट्रेट के समीप भव्य जयंती समारोह मनाया जाएगा जबकी समजवादी पार्टी की तरफ से कटरिया याकूबपुर में लौह पुरुष की 143 वीं जयंती समारोह का आयोजन किया गया है। भारत रत्न लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर भाजपा द्वारा सभी विधान सभा में रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। टाण्डा में बस स्टेशन से चिंतौरा चौराहा तक नगर अध्यक्ष रमेश गुप्ता ने बताया कि प्रातः 7 बजे से रन फ़ॉर यूनिटी कार्यक्रम आयोजित है जिसमें स्थानीय विधयाक सहित क्षेत्रीय मंत्री रामा मौर्य भाग लेंगे जबकि जलालपुर में क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सुरेश तिवारी, भीटी में प्रदेश महामंत्री विजय बहादिर पाठक व आलापुर में स्थानीय विधयाक अनीता कमल मौजूद रहेंगीं। 

बहरहाल भारत रत्न लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती समारोह का भाजपा व सपा दोनों पार्टियों ने आयोजन किया है।



अन्य खबर