Today,

हज यात्रियों के साथ हो रही नाइंसाफी से नाराज़ अरशद मियाँ ने दिया इस्तीफ़ा

23 Oct 2018

अल्पसंख्यक मंत्रालय पर लगाया गंभीर आरोप

हज यात्रियों के साथ काफी नाइंसाफी की जा रही है तथा भारतीय हज समिति के कार्यों में अल्पसंख्यक मंत्रालय अनावश्यक हस्तक्षेप कर रहा है।

उक्त आरोप लगाते हुए भारतीय हज समिति के सक्रिय सदस्य सैय्यद मोहम्मद मकसूद अशरफ़ उर्फ अरशद मियाँ ने अपने पद से त्याग पत्र दे दिया। यूपी प्रेस क्लब में मीडिया से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि हज यात्रियों के साथ काफी ना इंसाफ की जाती है। यात्रियों से शानदार बिल्डिंग में ठहरने का का पैसा वसूला जाता है और उन्हें सबसे खराब बिल्डिंग दी जाती है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के हवाई जहाज़ यात्रियों से 5 प्रतिशत जीएसटी ली जाती है मगर हज यात्रियों से 18 प्रतिशत जीएसटी उसूली जाती है। श्री अरशद ने कहा कि डॉलर की बढौतरी का भय दिखा कर इस वर्ष हज यात्रियों से अतिरिक्त पैसा भी वसूला गया जो सरासर ना इंसाफ थी। अल्पसंख्यक मंत्रालय पर आरोप लगाते हुए कहा कि मंत्रालय भारतीय हज समिति के कार्यों में अनावश्यक हस्तक्षेप कर रहा है जिसकी वजह से समिति काम नहीं कर पा रही है। उन्होंने कहा कि उक्त मामले की शिकायत समिति के अध्यक्ष चौधरी महबूब अली कैसर व केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी से भी किया मगर कोई फर्क नहीं पड़ा और ना ही आगामी हज यात्रियों की सुविधाओं की तरफ कोई ध्यान दिया इसलिए ऐसे समिति में बने रहने का कोई औचित्य ही नहीं है। आपको बताते चलेंकि सैय्यद मकसूद अशरफ उर्फ अरशद मियाँ अम्बेडकरनगर जनपद के किछौछा निवासी हैं एवं सैय्यद गौस अशरफ के भाई भी हैं।



अन्य खबर