Today,

अरे, यहाँ तो समाज सेवी को ही नहीं साधू व वकील को भी है जान का खतरा

23 Apr 2018

(एसपी साहब के अपराध व भय मुक्त समाज का सपना कैसे होगा पूरा)

अम्बेडकरनगर:राष्ट्र रक्षा मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश वर्मा को ही नहीं बल्कि समाज सेवी मुराद अली तथा वरिष्ठ अधिवक्ता जुनैद अहमद को भी अपनी जान का खतरा है। पेश है आलम खान की कलम से विशेष रिपोर्ट----

जनपद के तेज़ तर्रार युवा आईपीएस पुलिस कप्तान संतोष कुमार सिंह के निर्देश पर जहाँ समस्त थाना क्षेत्रों में सघन अभियान चला कर अपराधियों पर नकेल कसने का दावा किया जा रहा है वहीं जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत लोगों ने अपनी-अपनी जान का खतरा बताते हुए स्थानीय प्रशासन से जान माल की सुरक्षा की गोहार लगाई है। 
राष्ट्र रक्षा मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व वायु सैनिक स्वामी ओम प्रकाश वर्मा ने प्रशासनिक उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए आज से अपने पैतृक गाँव उतरेथू थाना इब्राहिमपुर में उपवास व धारना शुरू कर रखा है। श्री वर्मा ने अपनी जान का खतरा बताते हुए कहा कि जब तक जिलाधिकारी व पुलिस कप्तान धरना स्थल तक नहीं आते है तब तक धरना प्रदर्शन व उपवास जारी रहेगा। 
दूसरी तरफ अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के रेलवे स्टेशन निवासी समाजसेवी मुराद अली को भी जान से मारने की धमकी मिली है। श्री अली ने अकबरपुर कोतवाली में लिखित तहरीर देते हुए कहा कि कुछ लोग उनकी हत्या करवाना चाहते है जिसकी रणनीति फैज़ाबाद मार्ग पर बना रहे थे जो उनके मित्र ने अपने कानों से सुन लिया था। 
इस बीच टाण्डा कोतवाली निवासी प्रसिद्ध जुनैद वकील ने भी अपनी व अपनी जान का खतरा बताते हुए प्रशासनिक लापरवाही का आरोप लगाया है। श्री जुनैद की पत्नी की हत्या के मामले में आज पुलिस ने खुलासा करते हुए जो घटना क्रम दर्शाया है उससे पीड़ित जुनैद अहमद संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने पुलिस क्षेत्राधिकारी को मोबाइल से वार्ता कर बताया कि उनकी व उनके परिवार की जान को खतरा है।
बहरहाल जिस तरह से ओम प्रकाश वर्मा, मुराद अली व जुनैद वकील को अपनी जान का खतरा है उससे तेज़ तर्रार पुलिस कप्तान संतोष कुमार मिश्र का अपराध व भय मुक्त सामज का सपना कहीं नजर नहीं आ रहा है।



अन्य खबर