Today,

हैण्डलूम सर्वे के बहाने बुनकरों पर हो रहे उत्पीड़न को बन्द करने की माँग

30 Mar 2018

हर ख़बर पर है सूचना न्यूज़ की नज़र www.soochnanews.com

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष ने पॉवर लूम सर्वे के बहाने हो रहे बुनकरों का उत्पीड़न तत्काल बन्द करने तथा पूर्व सरकार की तरह सब्सिडी जारी रखने की माँग किया।

टाण्डा के पूर्व विधायक व बुनकर समाज से संबंध रखने वाले अजीमुलहक पहलवान ने विगत 14 मार्च को नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन को पत्र लिख कर बुनकरों के साथ हो रही नाइंसाफी पर न्याय की गोहार लगाई थी। उक्त पत्र के क्रम में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने सदन में सवाल उठा कर सरकार को घेरने की कोशिश किया। श्री हसन ने कहा कि सरकार को चाहिए कि तत्काल हैंडलूम सर्वे को बन्द करा दें क्योंकि सर्वे के बहाने बुनकरों का उत्पीड़न किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार द्वारा 14 जून 2016 को जारी किए गए शासनादेश के अनुसार किसानों की तरह बुनकरों को फ्लैट रेट पर विद्युत बिलों में दी जाने वाली छूटों को यथावत जारी रखें। सदन में उक्त सवालों को उठाते हुए श्री हसन ने कहा कि वह स्वंय बुनकर समाज से संबंध रखते हैं तथा मूल रूप से बुनकर बाहुल्य क्षेत्र के निवासी हैं और भलीभांति जानते हैं कि बुनकरों के साथ क्या बीत रही है। आपको बताते चलेंकि हथकरघा एवं वास्त्रोद्योग द्वारा पावर लूमों का सर्वे किया जा रहा है जिसके कारण कई स्थानों पर सर्वे टीम व बुनकरों में हाथापाई की नौबत तक आ जा रही है। जानकारी के अनुसारी मौजूदा सरकार बुनकरों की मिलने वाली बिजली की बिलों में छूट को को अब बिजली विभाग को ना दे कर सीधे रूप से बुनकरों के खातें में देने का मन बना रही है जिसके लिए एक तरफ सर्वे का कार्य तथा दूसरी तरफ बुनकरों का विरोध लगातार जारी है।
बहरहाल पूर्व विधायक हाजी अजीमुलहक पहलवान की पहल पर नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने बुनकरों की समस्याओं को प्राथमिकता से सदन में उठा कर सरकार को घेरने का प्रयास किया है अब इसमें कितनी सफलता मिलती है ये समय ही बताएगा।



अन्य खबर