Today,

'या हुसैन' की सदाओं से गूँज रहा है क्षेत्र

28 Sep 2017

सूचना न्यूज़ 9839372709

हज़रत इमाम हुसैन व उनके 72 साथियों की शहादत को याद करते हुए चारों तरफ नौहा ख्वानी, मजलिसों के साथ सीनाजनी का दौर तेज़ हो चुका है। योम-ए-आशूरा से पहले चारों तरफ से 'या हुसैन' की आवाज़ें बुलंद हो रही हैं। 

इस्लाम धर्म के अंतिम पैगम्बर हज़रत मोहम्मद सल्ल. के प्यारे नवासे हज़रत इमाम हुसैन और उनके 73ल2 साथियों की कर्बला में हुई शहादत को याद करते हुए सभी तरफ नौहा ख्वानी व मजलिसों का सिलसिला तेज़ी से चल रहा है। आगामी 01 अक्टूबर को योम-ए-आशूरा है और इससे ठीक पहले हर तरफ से 'या हुसैन' की सदायें गूंजती सुनाई दे रही है और साथ ही साथ सीनाजनी का सिलसिला भी काफी तेज हो चुका है। पहली मुहर्रम से लगातार जुलूस-ए-अलम, दुलदुल व ताबूत-ए-शहादत बरामद हो रहा है। मुहर्रम जुलूसों को सकुशल सम्पन्न कराने के उद्देश्य स्थानीय प्रशासन भी लगातार नज़र बनाये हुए हैं।

 



अन्य खबर